अपने आत्मविश्वास शक्ति को कैसे बढ़ाएं | How to Increase Self Confidence and Self Esteem

 

अपने आत्मविश्वास शक्ति को कैसे बढ़ाएं | How to Increase Self Confidence and Self Esteem

How to Increase Self Confidence and Self Esteem


कॉन्फिडेंस यानी आत्मविश्वास। यह एक ऐसी चीज है जो किसी भी इंसान को ज्यादा अट्रैक्टिव यानी ज्यादा आकर्षक बनाती है।

क्या आप अपने आपको आकर्षक बनाना चाहते हो।

क्या आप अपने आत्मविश्वास को बढ़ाना चाहते हो?

क्या आप ज्यादा शामिल करना चाहते हो।

क्या आप चाहते हो कि जब भी आप वॉक करो तब आपके अंदर एक कॉन्फिडेंस झलके।

आज मैं इस artical में आपको एक ऐसी ही सीक्रेट के बारे में बताऊंगा जो आज तक आपको किसी ने नहीं बताया। इस artical को शुरू से लेकर एकदम लास्ट तक पढ़ना | क्योंकि इस artical में जो बातें मैं आपको बताने जा रहा हूं, वो जिंदगी भर आपके काम आएगी।

जेनरली अगर आप ज्यादा कॉन्फिडेंट होना चाहोगे तो आप कहोगे की हां मैं कौन फ्रेंड हूं। मेरी आत्म शक्ति बहुत हाई है। पर जैसे ही आप बाहर निकलोगे तो आप ठीक से आदमी कर पाओगे। मतलब आप बाहर से दिखाऊंगी कि आप कॉन्फिडेंट हो पर अंदर से आप तब भी डरे हुए होते हैं। तो क्या कोई ऐसा तरीका है जिससे आपका जो माइंडसेट है जो मानसिकता है वही चेंज हो जाए। अंदर बाहर दोनों जगह कॉन्फिडेंस से भर जाएं तो हां, अगर उसी सीक्रेट के बारे में मैं आपको बता रहा हूं। ये सीक्रेट ऐसी है कि इसे जानने के बाद आप चाह के भी अपने आपको कॉन्फिडेंट होने से नहीं रोक पाएंगे।

डोपामीन

हमारे दिमाग के अंदर हजारों प्रकार के केमिकल्स हर सेकंड रिलीज होते हैं और वही केमिकल्स आपके मानसिक दशा को कंट्रोल करता है। तो क्या आपने कभी सोचा है कि अगर आप ज्यादा देर तक नहीं सोते तो आपको खराब क्यों फील होता है या फिर अगर आपका कोई मजाक उड़ा दे तो आपको खराब क्यों लगता है।

यह इसलिए क्योंकि उन सब परिस्थितियों में आपके दिमाग का जो केमिकल का बैलेंस है वह बिगड़ जाता है और आत्मविश्वास आत्म शक्ति आत्मबल ये सब उन्हीं सब केमिकल्स पर डिपेंड करता है। उन हजारों केमिकल्स में से एक केमिकल है जो आपकी जिंदगी को बदल सकता है और उस केमिकल का नाम है डोपामीन। जी हां याद कर लीजिए डोपामीन डोपामीन ये वो सीक्रेट है जिसके बारे में मैं बात कर रहा हूं।

देखो जादू वीडियोज में आपको 100 कॉल टेक्निक्स के बारे में बताया जाता है कि हां ऐसा कॉन्फिडेन्स बड़ा होने से बड़ा होने से बड़ा जो बिल्कुल बकवास होते हैं। असल बात तो कोई बताता ही नहीं। अगर आपके दिमाग की केमिकल बैलेंस में नहीं होगी तो कुछ भी कर लो। कॉन्फिडेंस किसी भी हाल में नहीं बढ़ेगा अगर आप दिमाग के केमिकल्स के विज्ञान को समझ लो। तो ऐसे ऐसे चुटकियों में आप अपना कॉन्फिडेंस बढ़ा लो ये डोपामीन केमिकल आपके अंदर मौजूद जितने पॉजिटिव यानी सकारात्मक चीजें हैं उन सब चीजों के लिए होता है।

कॉन्फिडेंस तुंरत इसका छोटा सा पार्ट प्रोब्लम इन केमिकल कॉन्फिडेंस को तो बढ़ाता ही है, पर जब डोपामिन केमिकल बैलेंस में होता है तो आपकी खुशी की जो फीलिंग है उसे मेंटेन करता इनक्रीस हैपिनेस मतलब आपको ज्यादा खुशी महसूस होगी। छोटी छोटी चीजों में आपको खुशी महसूस होने लगी और ये आपकी मेमोरी यानि किसी भी चीज को याद करने की शक्ति को बढ़ाने में मदद करती है। आप किसी के साथ बिना किसी डर के बात कर पाओगे और आप इस दुनिया से ज्यादा कनेक्टेड महसूस करो। डीप ब्रीदिंग की मदद से आप अपने बुद्धि और याद करने की शक्ति को बढ़ा सकते हो तो उसके पीछे का जो कारण है वो है डोपामीन।

ये साइंटिफिकली प्रूव है कि जब आप जोर जोर से सांस लेते हो यानी डीप ब्रीदिंग करते हो तब आपका दिमाग ज्यादा डोपामीन रिलीज करता है तो इसी तरह डीप ब्रीदिंग से आप अपने कॉन्फिडेंस को बढ़ा सकते हैं। पर इससे मेरा मतलब ये नहीं है कि आप रोड पर चलते समय पागलों की तरह जोर से सांस लें। मैं बस ये कह रहा हूं कि आप अपने पैशन को बनाए रखो। मतलब दिमाग में कुछ सोचने के बदले आराम से अपने दिमाग को शांत करके थोड़ा एक्टिवली सांस लें।

जब हम खयालों में खो जाते हैं तो चलते समय हम मिनिमम सांस लेते हैं और वे स्लीप सांस तक भी चलती है। पर उतनी एक्टिवली मजबूती चलते समय थोड़ा एक्टिवली सांस लो। आप नोटिस करना कि आपको ताजा फील होगा। इससे आपके दिमाग की डोपामिन केमिकल बढ़ेगी और आपके अंदर ऑटोमैटिकली कॉन्फिडेंस आने लगेगी।

दिमाग की और इमोशंस ये सब केमिकल्स का खेल है और आजकल की स्ट्रेस से भरी दुनिया में ये केमिकल बैलेंस बहुत ज्यादा है। याद है आपको बचपन में आप कितने घूस बे फिगर और एक्टिव थे। वो इसलिए क्योंकि उस समय आपके दिमाग की डोपामाइन केमिकल की बैलेंस बिल्कुल नॉर्मल थी और जैसे जैसे आप। बड़े हुए पढ़ाई लिखाई शुरू किया। अपने आप ने स्ट्रेस भरी लाइफ जीना शुरू किया तो इसके चलते आपकी डोपामीन सेंसिटिविटी कम हो गई और डोपामीन का बैलेंस बिगड़ गया। डोपामीन सेंसिटिविटी के कम होने के बहुत सारे कारण स्ट्रेस यानी तनाव उसका पहला कारण आपकी जिंदगी में जितना स्ट्रेस होगा।

टेंशन

आप जितना टेंशन लोगे आपकी कॉन्फिडेन्स उतनी ही कम होगी और डोपामीन केमिकल की जादुई बात यह है कि अगर आपका डोपामीन बैलेंस में होगा तो आप इस स्ट्रेस को पीढ़ी में जाएं। आप कितने भी जटिल काम कर लें तो अब आप मुझसे कहोगे कि उनके भाई तुमने डोपामिन के फायदों को तो बता दिया। पर मेन पैशन ये है कि आखिर हम डोपामीन को नॉर्मल कैसे करें

तो देखो डोपामीन आपके ब्रेन में एक अद्भुत मात्रा में होनी चाहिए और इसका जो बैलेंस है वह जब टूटता है तब प्रॉब्लम शुरू होती तो आपका गोल डोपामीन के लेवल को नॉर्मल करना होना चाहिए। नौ से ज्यादा और नौ से कम। सबसे पहले जंक फूड्स को छोड़ दो। जंक फूड्स हमारे ब्रेन में डोपामीन की ओवरडोज़ कर देती है, जिसके चलते इसकी बैलेंस बिगड़ जाती।

जंक फूड्स छोड़ो

जंक फूड्स को आप जब छोड़ोगे तो पहले भी आपको बहुत चिड़चिड़ापन फील होगा और आपको ज्यादा गुस्सा आएगा। इसे हम विड्रॉल सिम्टम्स कहते हैं पर कुछ हफ्ते बाद आप इतना अच्छा फील करोगे कि आप सोच भी नहीं सकते। अब अपने आप से बोलोगे कि अरे मैं तो मैं पूरी तरह से बदल चुका हूं। जब आप अच्छा फील करना शुरू करोगे, तब आप समझ जाना कि आपके डोपामिन लेवल्स नॉमर्ल हो गए और आप जंक फूड्स को नहीं छोड़ सकते तो जो मैं बाकी दो टिप्स बता रहा हूं, कम से कम उसे फॉलो कर लूं।

दूसरी एक्सरसाइज

यह साइंटिफिकली प्रूव है कि एक्सर्साइज़ आपकी डोपामीन लेवल को मेंटेन करता है और इसलिए एक्सरसाइज करने के बाद आपको अपने आप अच्छा फील होता है। आप अंदर से कॉन्फिडेंस महसूस करते हैं।

तीसरी टिप है मेडिटेशन

अब मेडिटेशन के बारे में मुझे आपको क्या कहना ये तो एकदम अमृत बिल्कुल एक्ससाइज जैसी ही मेडिटेशन भी आपके डोपामीन सेंसिटिविटी को हाई करती और इसलिए आपको छोटी छोटी चीजों में खुशी महसूस होती है और यह नैचरल तरीके से आपकी कॉन्फिडेंस को बढ़ाता है।

मैंने आपको बताया है वह सब साइंटिफिकली प्रूव और यही एक असली तरीका है जो आपके कॉन्फिडेंस को बढ़ा सकता है। मैंने जो बताया उसे अगर आपने दो तीन हफ्ते तक भी कर लिया। ना तो आप अंदर से इतने कॉन्फिडेंट महसूस करोगे। कितने कूल महसूस करोगे जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते। गाइड नीचे कॉमेंट जरूर करना। अगर artical पसंद आया तो इस post को लाइक कॉमेंट शेयर जरूर करना और इस चैनल को स्वीकार करना मत भूलना क्योंकि मैं ऐसे इंटरेस्टिंग post अपलोड करता रहता हूं।

आत्मविश्वास को कैसे बढ़ाया जा सकता है?

विद्यार्थी इन सरल तरीकों से बढ़ाएं अपने आत्मविश्वास की ताकत को

Post a Comment

Previous Post Next Post

Contact Form